अजवाइन खाने के अनोखे फायदे : कैसे करे सही उपयोग

Sending
User Review
0 (0 votes)

अजवाइन हर घर में पाई जाती है, लेकिन ज्यादातर लोग इसके गुणों के बारे में अपरिचित है, इसके सेवन से कई बड़े-बड़े रोगों का नाश किया जा सकता है. पेट से जुड़े रोग, दर्द, मासिक धर्म, सर्दी जुकाम, अम्लता, शराब की लत आदि कई रोगो से यह मुक्ति दिलाती है. अजवाइन को इंग्लिश में Carom Seeds के नाम भी जाना जाता है.

भारत में हमारे दादा-नानी आदि शुरू से ही अजवाइन का भोजन में उपयोग करते आरहे है, वह जानते है की इसके सेवन से वात, पित, कफा नियंत्रण में रहते है और शरीर व पाचन से जुड़े रोगों को भी यह दूर करती है. आज हम अजवाइन का भोजन में उपयोग तो करते है, लेकिन यह नहीं जानते की क्यों ? आज हम आपको इसी बारे में अजवाइन के फायदे और नुकसान अजवाइन होती क्या है इसके बारे में बताएंगे.

  • फाइबर (11.9%),
  • कार्बोहाइड्रेट (38.6%),
  • टैनिन, ग्लाइकोसाइड, नमी (8.9%),
  • प्रोटीन (15.4%),
  • वसा (18.1%),
  • सैपोनिन, फ्लावेन और फास्फोरस, कैल्शियम, लोहा और निकोटीनिक एसिड युक्त खनिज पदार्थ (7.1%) पाए जाते है

ajwain ke fayde, ajwain ke fayde in hindi,

अजवाइन के फायदे और नुकसान

Ajwain Ke Fayde in Hindi

  • सर्दी जुकाम में : अजवाइन के बीज ले 1-2 ग्राम और इन्हे तैल में तले और इन तले हुए बीजो को खाये, ऐसा आपको 14-15 दिनों तक रोजाना करना होता है. इससे सर्दी जड़मूल नष्ट होती है.
  • खांसी में : खांसी होने पर हल्का गर्म पानी कर ले और फिर अजवाइन के बीज चबाये, इनको चबाते हुए यह हल्का गर्म पानी पिए तो खांसी ख़त्म होती है.
  • एसिडिटी में : एसिडिटी आज के दौर में बड़ी आम हो गई है, इसके लिए आप सुबह खाली पेट या फिर खाना खाने के बाद गन-गुने पानी के साथ कुछ अजवाइन के दाने खाये ऐसा 2-3 सप्ताह तक करने पर पूरा आराम मिल जाता है.
  • इन्द्रायण और अजवाइन : इन्द्रायण के फल में थोड़ा सा कला नमक और अजवाइन भर दे और फिर इसे धुप में सुखाने के लिए रख दें. फिर इस अजवाइन का गर्म पानी के साथ सेवन करने से दस्त के समय जो दर्द होता है वह दूर होता है.
  • अस्थमा में : जब अजवाइन को गन-गुने हलके गर्म पानी के साथ लिया जाता है तो यह शरीर को ठण्ड से बचाता है और राहत देता है, साथ ही खांसी-बलगम को भी निकालता है. अस्थमा में गुड़ और अजवाइन दोनों को मिलाकर पेस्ट बनाले लगभग एक चम्मच दिन में 2 बार ले. यानी एक-एक चम्मच दोनों बार तो इससे अस्थमा में बहुत आराम मिलता है.
  • पेट में दर्द : पेट दर्द में घरेलु नुस्खे के रूप में अजवाइन पहले से ही बहुत ही प्रसिद्द है, इसके लिए थोड़ी अजवाइन और नमक हलके गर्म पानी के साथ मिलाकर ले तो इससे भोजन ठीक से न पचने से होने वाला दर्द और गैस आदि के दर्द में बहुत रहत मिलती है.
  • गुर्दा से जुड़े विकारो में : पेट दर्द के साथ ही गुर्दे से जुड़े रोगों में भी यह बहुत आराम करती है. जैसे गुर्दे की पथरी होना, इसके लिए आज अजवाइन के बीजो का ज्यादा सेवन करे, गर्म पानी के साथ दिन में दो बार ले सकते है बाकी सूखे बीज भी चबाते रहे.
  •  एक्ज़िमा : एक्ज़िमा छुआ-छूद का एक रोग है, जो की एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है. इससे छुटकारा पाने के लिए हलके गर्म पानी में अजवाइन को पीस कर पेस्ट बना लें. फिर पेस्ट बनने पर इसे चेहरे या फिर शरीर में जहाँ कहीं भी एक्ज़िमा हो रहा है वहां पर इस पेस्ट को लगाए. आधे घंटे तक लगा रहने दें फिर साफ़ पानी से इसे धो सकते है. रोजाना के प्रयोग से बहुत लाभ होगा.
  • गठिया सम्बंधित रोगो में : अजवाइन के बीज का जो तैल निकलता है वह गठिया में रामबाण होता है. इसके लिए आप बाजार से अजवाइन के बीज का तैल ले आये और इससे रोजाना जिस अंग में गठिया है वहां पर मालिश करे तो दर्द से रहत मिलती है और गठिया का इलाज भी होता है, यह अजवाइन के फायदे में बहुत असरकारी होता है.
  • वायरल इन्फेक्शन : वायरल इन्फेक्शन से अब के समय में कई रोग फेल रहे है, इससे बचने के लिए दालचीनी और अजवाइन दोनों को पानी में उबालकर पिए तो फ्लू या वायरल इन्फेक्शन से जुड़े रोगो में लाभ मिलेगा.
  • शराब की लत छुड़ाने के लिए : शराब की लत ऐसी है की आसानी से छूटती नहीं इसके लिए आप अजवाइन का इस तरह से उपयोग कर सकते है. बहुत ही छोटा और आसान सा तरीका है सिर्फ रोजाना आप अजवाइन के बीजो को मुंह में डालकर चबाये, चबाने मात्र से शराब की लत नहीं उठेगी. आपको जब भी शराब की तालाब उठे तो आप अजवाइन को चबाये.
  • पेट में गैस : पेट की गैस बनने पर आप अजवाइन, काला नमक और सूखे अदरक को बारीक पीस लें और चूर्ण बना ले फिर खाना खाने के बाद इस चूर्ण का सेवन करे तो गैस और गैस से जुडी सभी समस्याओ से राहत मिलेगी. इस विधि के सेवन से कब्ज और पेट ठीक से साफ़ नहीं होने की परेशानी भी ख़त्म होती है.
  • अरहर की दाल को अजवाइन से नहीं छौकना चाहिए, यानी अजवाइन का उपयोग अरहर दाल में न करे.
  • मुंहासो के लिए : अजवाइन को नीबू के रस में मिलाकर पेस्ट बनाये और मुंहासो पर लगाए तो इससे चहरे की खूबसूरती में बहुत निखार आता है. इसके अलावा 2 चम्मच
  • अजवाइन को 4 चम्मच दही में पीसकर रात में सोते समय चहरे पर मालिश करे फिर सुबह हलके गर्म पानी से चहरे धो लें तो चहरे खिल उठेगा.
  • मासिक धर्म में दर्द : अजवाइन को एक गिलास पानी में मिलाये और उबाले जब पानी आधा रह जाए तो थोड़ा सा गुड़ भी मिला देइ, अच्छे से मिक्स कर ले फिर इसको पि लें. मासिक धर्म में दो बार सुबह शाम इसको पिए तो दर्द और मासिक धर्म से जुड़े सभी रोगों में अत्यंत लाभ मिलता है.
  • मोटापा घटाने के लिए : 30 ग्राम अजवाइन को रात भर एक गिलास पानी में डालकर छोड़ दें, फीर सुबह एक इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर खाली पेट पि जाए. 45 दिनों तक रोजाना इसको करने से मोटापा कम होगा.

अजवाइन खाने के बाद कोई सी भी चीज न खाये, 15-20 रुकने के बाद आप किसी भी चीज का सेवन कर सकते है बाकी इससे पहले बटरमिल्क आदि का सेवन नहीं करे.

अजवाइन खाने के नुकसान

अजवाइन के नुकसान तभी होते है जब आप इसका सेवन ज्यादा मात्रा में करे, अगर कोई एक दिन में 10 ग्राम से ज्यादा अजवाइन खाता है तो उसे अजवाइन खाने के नुकसान हो सकते है. नुकसान में पेट की गैस, जलन, मुंह में छले, पेट में अल्सर आदि समस्या आने लगती है. वही अजवाइन के फायदे पाने के लिए अगर आप इसे बताये गए तरीको से सेवन करते है तो इसके कई ढेरों लाभ मिलते है बस एक दिन में दस ग्राम से ज्यादा इसका सेवन नहीं करना है.

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.