पथरी निकालने का इलाज, दवा और आयुर्वेदिक उपचार (Kidney Stone)

Sending
User Review
4 (1 vote)

पूरा पोस्ट पड़ें सभी तरह की पथरी का इलाज इन हिंदी और दवा आयुर्वेदिक : यह शिकायत सबसे ज्यादा दर्दभरी होती है, इससे होने वाला दर्द बहुत असहनीय होता है. इसीलिए इसे पेट के गंभीर रोगों में से एक माना जाता है. आप यह पोस्ट पूरा पड़े तो आपकी समस्या भी ठीक हो जाएगी.  इस दर्द से बचने के लिए हर कोई पथरी निकालने का घरेलु उपचार और ठीक करने के नुस्खे, तरीके खोज रहे हैं. इसीलिए हमने यह पोस्ट लिखा है. लोग अक्सर इसके लिए ऑपरेशन करवाते, जो की महंगा होता है. लेकिन जब हमारे पास घर पर ही इसका आयुर्वेदिक इलाज है तो हम क्यों ऑपरेशन करवाए. सभी लोगों की तरह आपकी समस्या भी ठीक हो जाएगी बस निचे बताये जा रहे उपाय करे.

इससे पहले की हम पथरी दूर कैसे करे इसके बारे में जाने चलिए पथरी के कारण के बारे में पढ़ते हैं.

गुर्दे व पेट में पथरी कैसे होती है –

पेट में गुर्दे की पथरी कैसे बनती है इसकी शुरुआत कैसे होती है ? पथरी होने के पीछे खास कारण पाचन तंत्र की विकृति होती है. हम रोजाना जो भोजन करते है उसमे से कुछ पदार्थ को पाचन तंत्र नहीं पचा पाता और फिर यही पदार्थ मूत्र द्वार (पेशाब करने के जगह) पर इकट्ठे होते जाते हैं जिससे पेशाब गाढ़ी (गट्ठी ) होने लगती है. इसी क्रिया के चलते धीरे-धीरे इन पदार्थों की मात्रा बढ़ती जाती है और फिर यह गुर्दे पथरी (बारीक पत्थर, रेत) का रूप ले लेती हैं. पथरी पेट में मौजूद इन Chemicals के कारण भी होती है Uric acid, Phosphorous, Calcium and oxalic acid. आगे पड़ें kidney stone treatment in Hindi के बारे में

इस तरह जब यह पदार्थ कण में बदल जाते है तो पेट में दर्द, पेशाब करने में परेशानी आना आदि गुर्दे की पथरी के लक्षण दिखाई देना शुरू हो जाते हैं. पथरी में छोटे कण दर्द नहीं देते और वह पेशाब के जरिये बाहर निकल जाते है. लेकिन अगर किसी वजह से यह कण पेशाब के जरिये बाहर नहीं निकलते तो यह कण बढ़ा रूप ले लेते हैं. और फिर आपको बड़ा असहनीय दर्द होने लगता हैं.

पथरी का इलाज दवा और आयुर्वेदिक उपचार

Kidney Stone Treatment in Hindi

kidne treatment ke liye upay

गुर्दे की पथरी के लक्षण 

  • गुर्दे की पथरी का दर्द रुक-रुक कर होता है.
  • जैसे 10 minutes के लिए दर्द होना और फिर अचानक व धीरे-धीरे दर्द का गायब होना.
  • पथरी के कारण कमर में भी दर्द होता है
  • पेशाब करते समय दर्द होना
  • पेशाब का रंग बदलना, पिला, गन्दा (Cloudy) colour में पेशाब का आना
  • कभी कभार यह पेशाब भूरी, गुलाबी और लाल रंग में भी आती है
  • पेशाब में से अजीब से बदबू आना
  • भुखार आना, उलटी करना आदि
  • पथरी के दौरान रुक-रुक कर पेशाब आने लगती हैं
  • पथरी का दर्द बहुत असहनीय होता है आप इसमे न तो ठीक से बैठ पाते है, न खड़े रह पाते हैं और ना ही ठीक से सो पाते है.
  • अगर आपको भी ऐसा पेट दर्द होता हो तो समझ लीजिये की यह पथरी के होने का लक्षण है.

Facts : पथरी धीरे-धीरे एक Golf Game की Ball के जितने बड़ी हो सकती है

pathari kyu hoti hai, pathari ke liye gharelu upchar

  • जब हमारे शरीर में कैल्शियम की मात्रा बढ़ने लगती हैं व शरीर को जरूरत के अनुसार कैल्शियम मिलने लगता हैं तो इससे पथरी बन जाती हैं. उत्तर – पथरी कैसे बनती हैं?

किस लापरवाही से होती है गुर्दे और पित्त की पथरी

  • कम पानी पीना
  • कम पानी के वजह से पेशाब खुलकर नहीं आ पाता और इसी वजह से पेट में मौजूद वह कण वही रुके रह जाते है जो की आगे चलकर पथरी का रूप ले लेते हैं.
  • बचपन में मिटटी, इट आदि पदार्थ को खाना
  • ऐसी चीजों को खाना जिनमे धूल, बारीक-बारीक रेत के कण मौजूद हो
  • बताई गई जानकारी खासकर पित्त व गुर्दे की पथरी होने की वजह होती है
  • बहुत बार हम जोर से पेशाब आने पर भी पेशाब नहीं करते

pathari nikalne ke liye upay, pathri ka ilaj

उम्मीद करते है इतने नुस्खे में से कोई न कोई सा नुस्खा आपको पूरी तरह से राहत दे. पथरी के लिए घरेलु उपचार से भी आपको आराम न मिले और अगर आपको काफी समय से पथरी का दर्द होता आ रहा है जो की अब बहुत ज्यादा असहनीय हो गया हैं तो आपको Doctor की मदद लेना चाहिए.

जिनके शरीर में जरूरत से ज्यादा कैल्शियम होता हैं उनको पथरी की शिकायत हो जाती है

  • सभी तरह की पित्त व गुर्दे की पथरी निकालने के उपाय में यह करे : मक्के के भुट्टे में जो बाल होते है उनको और जौ दोनों को अलग-अलग जला के राख कर ले और अलग-अलग शीशी में भरकर रख ले. अब आप रोजाना सुबह 2-3 चम्मच मक्के के भुट्टे की राख एक कप यानी 50-60 ग्राम गर्म पानी में डालकर पिए और रात को सोने से पहले आखिर में 2-3 चम्मच जौ की राख को भी एक कप गर्म पानी में डालकर पिए. ऐसा 7-8 दिन तक करे उसके बाद अगले दो दिन तक सिर्फ उबले हुए आलू खाये. फिर बाद में एक महीने तक खूब पानी पिए और कुल्थी का सेवन करे. सिर्फ 8-10 में यह नुस्खा पथरी को पेशाब के रास्ते से बाहर कर देता है.
  • आयुर्वेदिक उपचार में एक निम्बू का रस, 5 टुकड़े तरबूज के, 5 बर्फ के टुकड़े, 1 संतरा (छिला हुआ), 1 सेब (apple). अब इन सब को मिक्सर में डालकर पीस ले, juice बना ले और रोजाना सेवन करे. दिन में जितने बार इसका सेवन करेंगे उतना लाभ होगा.
  • पथरी निकालने के लिए पत्थरचट्टा के पत्तों को मिक्सर एक गिलास पानी के साथ डाले फिर 25 ग्राम शुद्ध जवाखार भी डाल दें. अब 5 मिनट तक इसे मिक्सर में पिसे, फिर सात गिलास पानी इसमें डाले. अब सीधे ही किसी कांच के बर्तन में इसे डालकर रख देइ और रोजाना एक दिन में 3-4 घंटे की गैप में दिन में 4 गिलास यह जूस पीना है. जैसे ही आप जूस पिए तो उसके आधे घंटे बाद पानी पिए इसके पहले कुछ न खाये और इस दौरान ज्यादा से ज्यादा पानी पिए. बनाया गया जूस 2 दिन चलेगा फिर आप इसे बना ले. इसके प्रयोग से सप्ताह भर में पथरी पेशाब के जरिये निकल जाएगी 100% इलाज होगा. NOTE: पत्थरचट्टा जिसे पाषाणभेद भी कहते है यह एक पौधा होता है नर्सरी में मिल जायेगा. जवाखार पंसारी की दुकान पर मिल जायेगा, यह शुद्ध ही लें. पथरी निकालने के घरेलु उपाय में रामबाण होती है पत्थचत्त खुद राजीव दीक्षित जी इसको करने की सलाह देते है.
  • अभी फ़िलहाल में हुई एक शोध के मुताबिक प्याज भी सभी तरह की पथरी के उपचार के लिए बहुत फायदेमंद होता है. अगर आप रोजाना सुबह उठने के बाद खाली पेट 70 ग्राम प्याज का juice पियेंगे तो यह आपकी जमी हुई पथरी को मिटा देगा. इसके साथ ही प्याज की सब्जी व कोरे प्याज को भोजन के साथ भी खाये.
  • किडनी स्टोन का इलाज में करेले का आप juice के रूप में सेवन करे, रोजाना एक ग्लास ओर एक कप करेले का juice पिए. इसका का सेवन आप सब्जी के रूप में भी कर सकते हैं. यह पथरी तोड़ता है इसे बनने से रोकता है.
  • चार चम्मच ताज़ा Lemon juice लें, और फिर इतनी ही मात्रा में Olive Oil लें. इसके बाद इन दोनों में थोड़ा पानी मिलाये और अच्छे से Mix कर इसका सेवन करले. इस नुस्खे का उपयोग लगातार तीन दिन तक नियमति रूप से दिन में 2 से 3 बार करे. अगर यह नुस्खा 4-5 दिन में पथरी को बाहर निकालना शुरू न करे तो फिर दूसरे नुस्खे का उपयोग करे.
  • आयुर्वेदिक उपचार : पथरचट्टा एक पौधा होता है उसका एक पत्ता ले और उसे 5 मिश्री के दानो के साथ पीसकर 50 ग्राम पानी के साथ सेवन करे. यह 100% पथरी ख़त्म करता है.
  • रोजाना पत्थरचट्टा के पत्तों का काढ़ा बनाकर पिए, सिर्फ 15 दिन में आराम मिल जायेगा.
  • पथरी के लिए बाबा रामदेव बताते है की रोगी को रोजाना 20-25 मिनट तक कपालभाति करना चाहिए, इससे पथरी टूटकर निकल जाती है.
  • आयुर्वेदिक उपचार में एक दिन में तीन से चार बार तक 1-1 गिलास मूली का रस पिने से पथरी जल्द ही 21 दिनों के भीतर निकल जाती है.
  • पथरी निकालने के लिए तीन गिलास पानी में 22 ग्राम कुल्थी डाले और खूब उबाले जब पानी एक कप जितना रह जाए तो इसे रोगी को पीला दें, ऐसा 21 दिनों तक रोजाना दिन में दो बार सेवन करने से पथरी पेशाब के जरिये बाहर निकल जाती है, यह बेहतरीन पथरी का घरेलु उपाय है.
  • पतंजलि का दिव्य अश्माहरी रस लेने से भी पथरी पिघल कर निकल जाती है, आप पतंजलि के स्टोर से इसे खरीद सकते है.
pathri ke liye gharelu upay, pathri ke liye gharelu upchar, pathri ka ilaj
आलू का उपयोग – गुर्दे में पथरी के लिए
  • पथरी निकालने के लिए रोजाना एक दो ताज़ा अनार खाने की आदत बनाये या फिर इसके जगह अनार का जूस पिए.
  • एक चम्मच अनार के दाने लें और फिर इन्ही Mixer और grinder में अच्छे से mix करके इनका paste बना लें फिर रोजाना इस paste को horse gram soup यानी कुल्थी के साथ खाये. आप horse gram (कुल्थी) को कही भी बाजार से खरीद सकते है) एह पित्त, गुर्दे सभी तरह की पथरी में बहुत रामबाण इलाज करता है.
  • पथरी के घरेलु नुस्खे में एक चम्मच तुलसी के पत्तों का juice लें, एक चम्मच शहद मिलाये. फिर इन दोनों को आपस में Mix कर ले. रोजाना नियम से इस पथरी के इस नुस्खे का उपयोग करे. इसके साथ ही रोजाना तुलसी के पत्तों को चबाने की आदत बनाये
  • पथरी में तुलसी के पत्तों की चाय से उपचार कर सकते हैं. 5-6 तुलसी के पत्ते लें और इन्हें 1 cup गर्म पानी में 10 minute तक अच्छे से उबाले. फिर इसमे एक छोटी चम्मच शहद की मिलाये और चाय ठंडी हो जाने पर पिले
  • आप रोजाना जितने ज्यादा तरबूज खाएंगे उतना ही पथरी पर असर पड़ेगा क्योंकि तरबूज में पानी ज्यादा पाया जाता है और इसको खाने से आपको पेशाब बहुत आएगी, और बार-बार पेशाब आने से पथरी पिघलना शुरू होगी इस तरह धीरे-धीरे गुर्दे की पथरी पेशाब के जरिये बाहर निकल जायेगी.
  • आयुर्वेदिक उपचार में रोजाना नियम से एक ग्लास अजवाइन का juice पिए, (रोजाना पिने से यह बनी हुई गुर्दे की पथरी को तोड़ने ख़त्म करने में मदद करता है). आप अजवाइन की चाय भी बना सकते हैं या चाय में अजवाइन डालकर भी सेवन कर सकते हैं.
  • पथरी तोड़ने का उपाय में जरुरी है की आपको पेशाब बहुत आये, और आपके शरीर में तरलता बनी रहे ताकि अब आगे से ना तो पथरी बनने लगे और बनी हुई पथरी भी मिटने लगे. इसके लिए आप तरल चीजों का ज्यादा सेवन करे. और पानी ज्यादा से ज्यादा पिए.
  • गुर्दे की पथरी को मिटाने के लिए हमें 100-150 मिलीग्राम vitamin B6 की जरुरत होती हैं. इसके लिए सुबह, दुपहर, शाम को केले खाये.
  • पथरी निकालने का इलाज में के लिए आप नारियल पानी का सेवन भी कर सकते हैं. यह भी एक तरल पदार्थ है. इसके साथ ही इसमे पथरी दूर करने वाले पदार्थ होते हैं. इसलिए रोजाना इसका सेवन करे लाभदायक रहेगा.
  • मिश्री दो चम्मच, बड़ी इलाइची के 15 दाने, एक चम्मच खरबूजे के बीज की गिरी को एक ग्लास पानी में अच्छे से घोल लें. इसके बाद इसका सेवन करे. सुबह और शाम को रोजाना नियमित रूप से इसको पिए.
  • अनार पेशाब से सम्बंधित सभी समस्याओं में बहुत फायदेमंद होता है. इसका उपयोग आप juice के रूप में कर सकते है या बिना juice के भी सेवन कर सकते हैं.
  • पके हुऐ जामुन खाने से भी पथरी ख़त्म होती है.
  • आवले के चूर्ण को मूली की साथ रोजाना सुबह के समय खाये, आवला पेशाब से सम्बंधित सभी बिमारियों में बहुत फायदे देता हैं.

पथरी के लिए Diet & life style

  • इन चीजों को कहना छोड़ दें fish, poultry, meat, spinach chocolate, tea, coffee, alcohol, cold drinks, pickles.
  • खट्टा और भारी भोजन करना बंद कर दें
  • (Liquid) तरल चीजों का ज्यादा सेवन करना शुरू कर दे
  • ज्यादा से ज्यादा पानी पिए
  • पेशाब आने पर पेशाब न रोके

pathri hone se kaise bache, pathri banne se kaise roke

बार बार पथरी होने से कैसे रोके

बहुत से लोगों को पथरी की शिकायत ख़त्म होने पर कुछ दिनों बाद वापस से हो जाती है. इसलिए आपको पथरी दुबारा न बने इसके लिए पथरी के लिए दवा का उपयोग करना चाहिए और यह दवा है “CHINA 1000 ” यह Medicine आपके शरीर में कभी भी पथरी नहीं बनने देगी. यह Homeopathy दवा है, इसको सिर्फ एक ही दिन लेना होता है. इस दवा को इस तरह से लें – सुबह और शाम के समय 3-3 अपनी जीभ पर डालकर पिले. इसका सेवन भविष्य में कभी भी Kidney Stone की problem नहीं होने देगा.

पथरी से बचने के उपाय

  • आयुर्वेदिक उपचार में शुद्ध और ताज़ा तुलसी के पत्तों का Juice पिने से भी पथरी में लाभ होता हैं.
  • गर्मी के दिनों में रोजाना नारियल पानी पिए, तरबूज खाये, खीर खाये, पपीता खाये और भरपेट पानी पिए.
  • दिन में 2-3 बारे रोजाना निम्बू पानी पिने से पथरी में तुरंत लाभ होता हैं
  • रोजाना केले खाये यह भी लाभ देते हैं
  • रोजाना किसी भी रूप में प्याज का सेवन करना बिलकुल न भूले
  • अगर आप रोजाना करेले का उपयोग नही कर सकते तो सप्ताह में 2-3 तो इसका उपयोग जरूर करें
  • सुबह खाली पेट Aloevera का juice पिने से भी पथरी रोग में लाभ होता हैं.
  • 2 ग्लास पानी में आधा-आधा कप सौंफ, मिश्री और सुख धनिया मिला लें और इसे रात भर पानी में भिगोये हुई छोड़ दें. सुबह इसे छानकर पिले.

उम्मीद हैं दोस्तों बताये गए गुर्दे की पथरी का इलाज के घरेलु उपाय kidney stone treatment in Hindi पतरी ख़त्म करने में बहुत लाभ मिले. (रोजाना नियम से उपचार करे) जो तरल पदार्थ वाले नुस्खे बताये हैं उनका आप कभी भी कितना भी उपयोग कर सकते हैं. अगर आपको इनमे से किसी किडनी स्टोन का आयुर्वेदिक उपचार में कोई doubt लग रहा हो तो आप comment के जरिये हमसे अपना doubt clear कर सकते हैं.

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.