सफेद दाग के शुरुआती लक्षण – क्यों और कैसे होता है ??

safed daag kyu hote hai, safed daag kyo hota hai
सफेद दाग के शुरुआती लक्षण – क्यों और कैसे होता है ??
Rate this post

सफ़ेद दाग क्यों और कैसे होता है – कुष्ठ रोग, leucoderma जिसे हिंदी में सफ़ेद दाग के नाम से जाना जाता है, यह रोग अब के वक्त में काफी फैलता जा रहा है. अक्सर रोगी शुरुआत में इसपर ज्यादा ध्यान नहीं देता व इसी तरह धीरे-धीरे सफ़ेद दाग शरीर में फैलने लगता हैं जिससे शरीर पर कई जगहों पर सफ़ेद दाग धब्बे होने लगते हैं. आइये जाने इसके safed daag ke lakshan or karan के बारे में.

safed daag kyu hote hai, safed daag kyo hota hai

सफेद दाग के लक्षण

  • सफ़ेद दाग के शुरुआती लक्षण में शुरुआत में शरीर पर किसी भी अंग में छोटा सा चकता बनता हैं, जिसका रंग हल्का सफ़ेद होता हैं. यह दिखने में दाद जैसा मालूम होता हैं लेकिन होता सफ़ेद दाग हैं. तो इस तरह यह धीरे-धीरे बढ़ता हैं व अगर ध्यान नहीं दिया जाए तो शरीर में और अन्य अंगों पर भी सफ़ेद दाग उभरने लगते हैं.

safed daag ke lakshan, सफेद दाग के लक्षण, सफेद दाग के शुरुआती लक्षण

सफ़ेद दाग क्यों होते और कैसे होता है कारण

हमारे शरीर में त्वचा को रंग देने वाली एक कोशिका होती हैं, जो की हाथों के, पलकों के, पैरों के आदि पुरे शरीर की त्वचा को रंग देने का काम करती हैं. जब यह कोशिका किसी कारण वश नष्ट हो जाती है या काम करना बंद कर देती हैं तो उस त्वचा का रंग सफ़ेद हो जाता हैं. अगर पुरे शरीर की कोशिकाएं नष्ट हो जाए तो सारा शरीर ही सफ़ेद हो जाता हैं.

इस बीमारी में यह क्रिया होती है, लेकिन यह डॉक्टर्स को भी पक्का पता नहीं की आखिर क्यों कोशिका नष्ट हो जाती हैं. एक रिसर्च में यह जानने में आया की हमारी खुद की इम्युनिटी ही इसे नष्ट कर देती हैं, इसके पीछे पता नहीं क्या कारण हो सकता हैं. लेकिन अभी तक इतनी ही जानकारी डॉक्टर्स दे पाए हैं.

सफ़ेद दाग क्यों होते है – बाकी यह विटामिन 12 जिंक, कैल्शियम आदि की कमी होने से भी पैदा होता हैं. इसके अलावा अनियमित जीवन शैली भी इसे प्रभावित करती हैं. यह रोग genetically भी हो सकता हैं. जैसे आपके पिता को सफ़ेद दाग थे तो आपको भी सफ़ेद दाग होने की सम्भावना होगी. कई बार हम दूध पीकर नमक से बने पदार्थों का सेवन कर लेते हैं जो की अत्यधिक नुकसान दायक होता हैं. इससे सफ़ेद दाग पैदा होते हैं. यानी अगर आप दूध पि रहे है तो इसके साथ नमक से बनी कोई भी चीज न खाये नहीं तो सफ़ेद दाग की बीमारी लग जाती हैं.

  1. मछली खाकर दूध पीना
  2. दही खाकर दूध पीना
  3. नमक से बनी चीज खाकर दूध पीना
  4. नमक का ज्यादा सेवन करना
  5. ज्यादा मीठा खाना
  6. बासी व दूषित भोजन करने से
  7. शरीर में ताम्बे के तत्व की कमी के कारण

आदि इन सभी चीजों का सेवन सफ़ेद दाग का कारण बनता हैं.. इसलिए अगर आपको सफ़ेद दाग की शिकायत है तो आज से ही नमक खाना बंद कर दें, मीठा खाना बंद कर दें, दही दूध पीना भी छोड़ दें, मांसाहारी भोजन छोड़ दें आदि इन सभी को बंद कर दें और दूसरे लोगों को भी सलाह दें की दूध के साथ कोई नाश्ता न करे क्योंकि हर एक नास्ते में नामक मिला हुआ होता हैं व मछली मांस खाने के बाद भी दूध न पिए.

safed daag ke karan, safed daag kyo hote hai

इलाज के लिए क्या करे

  • इसका इलाज अगर शुरुआत में ही शुरू कर दिया जाए तो रोग को फैलने से रोका जा सकता हैं अथवा अगर इसे नजरअंदाज किया जाए तो यह बढ़कर सारे शरीर पर फेल जाता हैं व फिर इसे रोकने में काफी तकलीफ होती हैं. इसलिए समय से पहले उपचार करे. हमने इसके लिए रामबाण उपचार भी दिए है जो की आपको अवश्य ही देखने चाहिए.

“सफेद दाग की दवा “

“सफ़ेद दाग का इलाज”

सफ़ेद दाग में क्या खाना चाहिए

तो उम्मीद करते है आपके सवाल सफ़ेद दाग के लक्षण और कारण क्यों होते है व कैसे होते है इसके बारे में आपको जानकर अच्छा लगा होगा. यहां ऊपर दिए गए लेख को अवश्य ही पड़ें वहां पर सफ़ेद दाग को दूर करने वाले नुस्खे व इलाज के बारे में बताया गया हैं.

आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.