साइटिका रोग का निवारण सही इलाज और आसान उपाय

Sending
User Review
0 (0 votes)

साइटिका में बहुत तेज सुई की चुभन जैसा दर्द होता है, यह रीढ़ की हड्डी की तंत्रिका से शुरू होती है और कूल्हों के पास से गुजरती हुई पैरों के निचे तक जाती है. शरीर में सबसे बड़ी तंत्रिका यही होती है. साइटिका एक तरह की सनसनी होती है जो की कूल्हों, जांघों, नितम्बो और पैरों में तेज दर्द का कारण बनती है. ज्यादातर यह शिकायत 31-32 से लेकर 50 साल के व्यक्तियों को होती है, यह पुरुष और महिला दोनों को हो सकती है.

साइटिका में पैरों में, कूल्हों में सुनता का अनुभव होना, हिलने डुलने में समस्या होना, सुई की चुभन के जैसा एक दम दर्द उठना, ज्यादातर दोनों टांगों के बिच में एक तरफ इसका दर्द होता है. चलने फिरने और उठने बैठने में समस्या आने लगती है आदि लक्षण साइटिका होने पर दिखाई देने लगते है.

साइटिका का सही इलाज कोई सा नहीं होता, सही वही है जो आपकी बीमारी को ख़त्म कर दे. जो दवा किसी दूसरे को असर करती हो जरुरी तो नहीं वही आपको भी करे इसीलिए सभी तरह के इलाज करवाने चाहिए, जैसे डॉक्टरी इलाज, देसी इलाज और आयुर्वेदिक इलाज आदि क्योंकि अधिकतर इस बीमारी में देखा गया है की कई लोगों को गोली दवाई या डॉक्टरी इलाज से उनको आराम नहीं मिला और आयुर्वेदिक या देसी उपायों से उन्हें राहत मिली. तो ऐसे में हमारी सलाह है सभी तरह के इलाज करवाए, पहले आप डॉक्टरी इलाज से शुरुआत करे फिर अन्य आयुर्वेदिक चिकित्सक आदि से मिलकर इस इसके उपचार के लिए कदम बढ़ाये.

साइटिका के घरेलु इलाज के लिए हम यहां कुछ उपाय बता रहे है, जिनको अपनाकर भी आप साइटिका की छुट्टी कर सकते है, तो आइये जानते है इन्ही चमत्कारी घरेलु उपायों के बारे में.

साइटिका का इलाज सही उपचार

साइटिका का रोग निवारण के उपाय

  • साइटिका के दर्द का इलाज करने के लिए सबसे बेहतरीन उपाय है योग, योग के जरिये आप शरीर को लचीला कर सकते है. रोजाना थोड़ा योग करने से स्ट्रेचिंग करने से मांसपेशियों की क्षमता बढ़ती है जिससे वह दर्द नहीं करती. इसीलिए आपको योग स्ट्रेचिंग पर ध्यान देना चाहिए, इसको नियमित रूप से करे तो अत्यंत लाभ होगा.

  • दर्द से छुटकारा पाने के लिए यह सिकाई करे, सबसे पहले मटर को छीलकर उनके दाने निकाल ले फिर इन्हे फ्रीजर में रख दें ताकि यह बर्फ में जम जाए, इसके बाद आप इन्हे किसी कपडे में लपेटकर दर्द वाली जगह पर रख कर सिंकाई करे. इसे आप करीबन 15 मिनट तक रखा रहने दें तो दर्द में काफी राहत मिलेगी. साइटिका के दर्द से जो नसों में सूजन आई होगी उस सूजन को कम करने के लिए इसके तुरंत बाद ही किसी भी गर्म कपडे से सिंकाई करे 15 मिनट तक इससे तुरंत ही कैसा भी दर्द हो सूजन हो सब ठीक हो जाता है.
  • सेंधा नमक मिले हुए पानी में नाहने से हर तरह के दर्द और सूजन से राहत मिलती है. इसका प्रयोग सदियों से किया जाता आरहा है, यह आज भी बहुत असरकारी है. इसके लिए आप पहले तो गुनगुना पानी लें फिर उसमे 2-3 चम्मच सेंधा नमक मिलाये और अच्छे से हिलाकर मिक्स कर लें फिर इस पानी से आप नाहये और दर्द, सूजन वाली जगह को इस पानी से अच्छे से धोये. इसके अलावा इस पानी में एक तोलिये कपडे को भिगोकर अपनी सूजन, दर्द वाली जगह पर रख कर सिंकाई करे तो अत्यंत राहत मिलेगी.
हारश्रिंगार
  • हारश्रिंगार का काढ़ा, हारश्रिंगार का एक पौधा होता है उसका काढ़ा साइटिका में बहुत असरकारी होता है. यह पौधा आपको नर्सरी में बड़ी आसानी से मिल जायेगा. हारश्रिंगार पौधे के ताजा पत्ते पीस लें फिर एक गिलास पानी में अच्छे से उबाल इन्हे तब तक उबाले जब तक पानी उबलकर आधा न रह जाए फिर आधा रहने पर गैस बंद कर लें और ठंडा होने पर इसे पि लें. इसका प्रयोग आपको 7 दिन से लेकर 14 दिनों तक करना होता है.
  • तेल से मालिश करे, दर्द और सूजन से राहत पाने के लिए मालिश का तरीका हर कोई आजमाता है. साइटिका में जैतून, सरसों, तिल इनमे से किसी एक का तेल लें और फिर तेजपत्ता और लहसुन की 3 कलियाँ लें अब इन्हे गैस पर रख कर तेल के साथ भून लें, अच्छे से भून लेने के बाद दर्द वाली जगह पर लगाकर अच्छे से मालिश करे, नसों को दबाये तो दर्द से बहुत आराम मिलेगा.
  • साइटिका दर्द में पैदा चलना : जब आपको दर्द हो रहा हो तब तो आपको चलना ही नहीं चाहिए, शरीर को आराम देना चाहिए बाकी समय आप पैदल चल सकते है, इससे लाभ ही होगा. इसके लिए आप सुबह शाम स्ट्रेचिंग भी करे ताकि मांसपेशियां और मजबूत बने.

इस तरह आप साइटिका का इलाज सही उपचार कर साइटिका का निवारण कर सकते है. बाकी सीके पहले भी हमने पोस्ट लिखे थे उनको भी पड़ें.

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.