तेज़ बुखार कम करने का तरीका : 7 आसान उपाय और नुस्खे

तेज़ बुखार कम करने का तरीका : 7 आसान उपाय और नुस्खे
Rate this post

तेज बुखार को कम करने का तरीका और उपाय जिनकी मदद से आप बुखार ठीक कर सकते है और उसके तापमान को कम कर सकते है। बुखार काफी आम रोग है, यह ज्यादातर कमजोर रोग-प्रतिरोधक क्षमता वालो को होता है। बुखार का इलाज के बारे में हमने पिछले पोस्ट में सारी जानकारी दे दी थी और बताया था की कैसे आयुर्वेदिक नुस्खे के जरिये बुखार को जड़ से ख़त्म किया जा सकता है।

ठीक वैसे ही आज हम यहाँ आपको tez bukhar ko kam karne ke upay के बारे में बताने जा रहे है, साथ ही जानेंगे की बुखार होने के कारण क्या होते है ?

बुखार के कारण

बुखार मौसमी बदलाव और किन्ही कीटाणुओं के संपर्क में आजाने से होता है, इसे वायरल फीवर भी कहते है। कई लोगों को पहले सर्दी होती है और फिर सर्दी से बुखार और खांसी होने लगती है.

  • सर्दी जुकाम के कारण
  • मौसमी बदलाव के कारण
  • संक्रमण के कारण
  • रोग-प्रतिरोधक क्षमता कम होने से
  • ठन्डे-गरम के प्रकोप से आदि
tez bukhar ko kam karne ka tarika, tez bukhar kam karne ke upay

यह आपने भी देखा होगा, कई लोगों को बुखार बहुत ही कम आता है, अगर आता भी है तो सालों में 1-2 आता है और वही कुछ लोगों को 1-2 में कई बार बुखार आजाता है। इसके पीछे कारण है रोग-प्रतिरोधक क्षमता यानी शरीर की रोगों कीटाणुओं से लड़ने की क्षमता के कमजोर होने से। तो अगर आपको भी बार बार जारा से मौसमी बदलाव से ही बुखार आजाता है तो आप अपनी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के उपाय पहले करे।

तेज़ बुखार कम करने के उपाय और नुस्खे

Tez Bukhar Ko Kam Karne Ka Tarika in Hindi

गर्म पानी से नाहये : जिन्हे बहुत तेज़ बुखार आरहा हो उन्हें गरम पानी से नाहना चाहिए, इससे शरीर का अतिरिक्त तापमान नियंत्रण में आता है। यह तेज़ बुखार को तो काम करता ही है साथ ही रोगी के मन को भी शांत और शरीर को आराम देता है।

प्याज का उपयोग : प्याज से भी आप बुखार पर नियंत्रण पा सकते है, इसके लिए प्याज की स्लाइस काट कर आपने पैरों के तलवों पर रगड़े इसके अलावा प्याज के स्लाइस को पैरों के तलवों पर रख दें और ऊपर से मोज़े पहन लें। स्लाइस को अंदर ही रहने दें ऐसा आप रात को सोते समय कर सकते है कई लाभ होंगे।

गीले मोज़े : बुखार के रोगी को गीले मोज़े पहनना भी एक बेहतरीन तरीका है, इससे शरीर की गर्मी खर्च होती है जिससे बुखार कम होता है। इसके लिए आप मोज़े को ठन्डे पानी में डुबोकर फिर निचोड़कर रोगी के पैरों में पहना दें। इसे आप रात को सोते वक्त और दिन में कभी भी कर सकते है। यह तेज़ बुखार को कम करने के तरीके में सबसे अच्छा और जल्दी से असर करता है।

ठंडा टॉवल : यह बहुत प्राचीन तरीका है, टॉवल को पानी में भिगोकर उसका पानी निचोड़ दें और फिर रोग के गले पर उसे रख दें। ऐसा करने से रोगी का जो तेज़ बुखार है उसमे आराम मिलेगा, शरीर का अतिरिक्त तापमान इससे कम होने लगता है। इसे टॉवल को आप सर पर भी रख सकते है, या दोनों जगह सर और गर्दन पर अलग अलग टॉवल भी रख सकते है।

सरसों और लहसुन का तरीका : 2-3 चम्मच सरसों का तैल ले और इसे गर्म करे फिर इसमें 1/2 चम्मच लहसुन का पेस्ट मिला दें। दो मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें इसके बाद फिर इस तैल को आप बुखार के रोगी के सिर, पैर के तलवो, हथेलियों, गर्दन, छाती आदि जगह पर लगाए और मालिश करे तो इससे तेज़ बुखार कम होगा, घरेलु उपचार में यह काफी अच्छा तरीका है।

स्पेशल चाय पिए : अदरक, तुलसी के पत्ते, लौंग की चाय बनाकर अच्छे से उबालकर पिए, यह चाय आपको बहुत रात देगी। सर्दी जुकाम को तो ख़त्म करेगी ही साथ में आपके मन को स्वस्थ करेगी।

सर्दी जुकाम लग कर बुखार आने पर आप एक चम्मच अदरक में 10 ग्राम अदरक का रस मिलाकर दिन में तीन बार पिए। इस उपाय को करने के बाद 15-20 मिनट तक कुछ भी न खाये पिए, इस उपाय को करने से आपको पहले दिन से ही आराम महसूस होने लगेगा और अगले दो तीन दिनों में आपका बुखार बिलकुल ठीक हो जायेगा।

दोस्तों यह थे तेज़ बुखार को कम करने के उपाय और घरेलु नुस्खे इनकी मदद से आप तेज़ बुखार से छुटकारा पा सकते है, बाकी डॉक्टर को दिखाकर बुखार का पूरा उपचार करवाए ताकि यह फिर दुबारा न हो

 

आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.