उलटी की दवा का नाम और 7 आसान उपाय : Vomiting Medicines

ulti ki dawa ka naam, ulti ki dawa, ulti rokne ki dawa,
Sending
User Review
1 (1 vote)

उलटी की दवा का नाम अंग्रेजी इन हिंदी में बताये : एलोपैथिक, आयुर्वेदिक और होमियोपैथी तीनो तरह के बारे में हम यहाँ आपको जानकारी देंगे. उलटी होना बहुत आम समस्या है, यह ज्यादातर अधिक भोजन कर लेने से, ख़राब भोजन या ख़राब पदार्थ खा लेने से या सफर के दौरान होती है. ऐसे में बार बार जी मचलना घबराना और फिर उलटी हो जाती है. ऐसे में कई घरेलु उपाय भी जिनको अपनाकर आप इन सब से छुटकारा कर उलटी का समाधान कर सकते है वैसे आप उलटी, जी घबराना और जी मिचलना की दवा का सेवन भी कर सकते है. पढ़िए उलटी रोकने की मेडिसिन्स के बारे में बताये.

उलटी जैसे रोगों में हमे पानी का ज्यादा ध्यान रखना चाहिए, ऐसे में शरीर में पानी की कमी ना आने दें और पानी पीते रहे. इसमें आप नीबू पानी, ग्लूकोस का पानी आदि का सेवन कर सकते है. इसके अलावा आप एक गिलास गर्म पानी करे और उसके ठन्डे होने पर उसमे एक चम्मच नामक और एक चम्मच शक्कर डालकर पिलाये यह डिहाइड्रेशन और पानी की कमी को दूर कर उलटी से बचाता है.

  • हमने पिछले पोस्ट में उलटी के कारणों, लक्षण और घरेलु नुस्खे के बारे में बताया था जो की बहुत ही आसान और रामबाण है. आप इस दवा टेबलेट्स के पोस्ट को पड़ने के बाद उसे भी एक बार जरूर पड़ें : तुरंत उलटी रोकने के घरेलु नुस्खे

उलटी की दवा का नाम (अंग्रेजी गोली )

Vomiting Medicine in Hindi

ulti ki dawa ka naam, ulti ki dawa, ulti rokne ki dawa,

  1. उलटी की गोली दवाइयां Largactil 10Mg और Celin 100Mg की टेबलेट दोनों साथ में मिलाकर (लेकर) दिन में दो बार पानी के साथ रोगी को खिलाये. यह दोनों एलोपैथिक (अंग्रेजी) दवा जी मिचलना, जी घबराना और उलटी रोकने में उपयोगी होती है. साथ ही जिनको उलटी करने का जी होता है उसको भी यह ख़त्म करती है. बच्चों को दोनों की आधी-आधी टेबलेट यानी आधी खुराक दिन में दो बार दे सकते है. बच्चों को शहद में मिलाकर दे सकते है.
  2. Marzine और B Complex 1-1 tablet दोनों की उलटी जैसा लगने पर खाये, इसको दिन में दो तीन बार दिया जा सकता है, और उलटी से ज्यादा तबियत ख़राब होने पर 1ML का इंजेक्शन डॉक्टर द्वारा लगाया जाता है. बताई गई दवाई (vomiting medicine tablets) हर तरह की उलटी में लाभ करती है, प्रेगनेंसी की उलटी, सर चकराना, घबराना आदि सभी में रामबाण होती है.
  3. Eskazin 1 तथा 5 Mg की टेबलेट दिन में दो बार दें, इसका इजेक्शन भी आता है लेकिन दवाई उसकी जरुरत नहीं लगने देगी. यह दवा मानसिक तनाव, मितली, यात्रा के दौरान उलटी, प्रेगनेंसी में उलटी होना, मानसिक थकावट आदि में बहुत लाभ करती है.
  4. Eskazin और Celin 100 Mg की टेबलेट दोनों को 4 से 6 घंटे के अंतराल में रोगी को खिलाये, इसे जब तक पूरा आराम न हो जाए तब तक खिलाते रहे.
  5. Electral Powder यह दवाई liquid है और डिहाइड्रेशन को भी दूर करती है. दस्त आना, उलटी, शरीर में पानी की कमी, सफर की उलटी आदि में बहुत फायदा करती है. यह दवा 1 चम्मच सहित 20 ग्राम के थेले (Packet) में उपलब्ध होती है. इसे एक लीटर पानी में घोलकर प्यास लगने पर 1-2 चम्मच बार-बार पिलाते रहे. नोट : वृक्क रोग, आंतो में छेड़ होने पर यह उलटी रोकने की अंग्रेजी दवा (टेबलेट) न ले.
  6. उलटी की गोली > Avomine यह जी मचलना, उलटी का जी होना आदि सभी तरह की उलटी रोकने में उपयोगी होती है. इसकी 25 Mg की टेबलेट बाजार में मिलती है. एक दो टेबलेट सुबह शाम के समय सेवन करे.

उलटी रोकने की की आयुर्वेदिक दवाइयां

  • वोमिटिव टेबलेट व सिरप सभी तरह की उलटी में लाभ करती है. इस दवा के साथ एक नोट या लिटरेचर आता है उसे पढ़कर इस दवा को ले, उसमे इसको लेने की विधि और प्रयोग के बारे में लिखा होता है.
  • होम्योपैथिक, कार्बोवेज 30 : बुसी-बुसी और खट्टी डकारे आना, पेट के ऊपरी भाग में हवा गैस भरी रहना, इन लक्षणों में लाभप्रद है. इसके लिए दिन में दिन बार इस दवा का सेवन करे. (इन सभी तकलिगों में यह उलटी की गोली रामबाण होती है)
  • काक्यूलस 30 : ट्रैन, बस, नाव, जहाज आदि में यात्रा करते समय जी मिचलना, उलटी जैसा मन होना आदि के लक्षण दिखाई देने पर इस दवा को दिन में तीन बार लें.

घरेलु उपाय

  • यह उपाय भी किसी भी ulti ki dawa (in Hindi) की तरह व उससे अच्छे असरकारी है, यह दवाइयां भी इन्ही की मदद से बनती है आप निचे दिए जा रहे नुस्खों को भी अपना सकते है.
  • नमक का गर्म पानी पिए इससे भी उलटी रोकने में मदद मिलती है, यह उलटी का इलाज सबसे आसान है.
  • 5 लौंग मुंह से चबाकर रस चूसे, और यात्रा पर जाते वक्त लौंग मुंह में डालकर रखे बिलकुल भी उलटी नहीं होगी.
  • नीबू का पानी पिए जी मिचलना बिलकुल बंद हो जायेगा.
  • जली हुई रोटी को पानी में भिगो दें, फिर इस पानी को पिए तो तुरंत उलटी बंद हो जाती है.
  • बर्फ का पानी पिने या बर्फ के टुकड़े को चूसने से भी उलटी का मन नहीं होता व ख़त्म हो जाती है.
  • कच्चा नारियल का पानी पिने से भी उलटी आना जी मचलाना और घबराना बंद हो जाता है.
  • हल्दी को जलाकर पानी में बुझाकर इस पानी को पिए, यह जी घबराना, जी मचलना की दवा बहुत आसान और रामबाण है.
  • अदरक और प्याज का रस निकाल ले और दोनों को मिलाकर पिए जल्द लाभ होगा.
  • 5 लौंग, 5 छोटी इलाइची, 25 ग्राम मिश्री इन तीनो को आधा लीटर 500 Ml पानी में उबाले जब यह उबलत्कार 125 ग्राम रह जाए तो इसे आग से उतार ले और ठंडा होने पर थोड़ी थोड़ी देर में पीते रहे.

इसके अलावा कुछ लोगों को किसी भी चीज से एलर्जी के वजह से चक्कर आते हो तो वह नींद निकाल लें इससे भी आराम मिलता है. जैसे कई लोगों को झूले झूलने से चक्कर आजाते है, किसी को तेज वाहन चलते हुए देखने से चक्कर आजाते है आदि ऐसे में रोगी को नींद का सहारा लेना चाहिए.

नोट : यहां दवाइयों के बार में सामान्य जागरूकता व जानकारी के लिए बताई गई है, इन्हे लेने से पहले किसी डॉक्टर आदि से परामर्श जरूर ले.

तो अब आपको होम्योपैथिक, आयुर्वेदिक और उलटी की अंग्रेजी दवा vomiting medicine in Hindi के बारे में अच्छे से जानकारी हो गई होगी. यह जी मचलाना, जी घभराना और प्रेगनेंसी में उलटी (वोमिटिंग) रोकने में भी उपयोगी है. इसके अलावा घरेलु उपाय से भी आप आराम पाए सकते है. वोमिटिंग रोकने की दवा के इस लेख सभी लोगों तक पहुंचाए SHARE करे.

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.